Saturday, 9 February 2013

बढाएं सेक्स पावर



 कामेन्द्रिय को पुष्ट और ताकतवर बनाया जा सकता है और से़क्स का भरपूर आनंद लिया जा सकता है।मैं ऐसे ही कुछ प्रभावी  उपचार


१) लहसून की 2-3 कलियां कच्ची चबाकर खाने से सेक्स पावर बढता है। यह हमारे शरीर की  रोगों से लडने की ताकत बढाता है।  लहसुन उन लोगों के लिये भी हितकर है जो  अति सेक्स सक्रिय  रहते हैं।  इसके उपयोग से नाडीमंडल  तंदुरस्त रहता है  जिससे  अधिक सेक्स के  बावजूद थकावट मेहसूस नहीं होती है। लहसुन के नियमित उपयोग से स्वस्थ शुक्राणुओं का उत्पादन होता है।भोजन में भी लहसुन शामिल करें।

२) प्याज कामेच्छा जागृत करने और बढाने में विशेष सहायक  है। इससे लिंग पुष्ट होता है। एक प्याज कूट-खांडकर  मखन या देसी घी में तलें। इसे एक चम्मच शहद में मिश्रित कर  खाली पेट  खाएं। यह उपचार शीघ्र पतन,स्वप्नदोष और नपुंसकता में बहुत लाभकारी सिद्ध हुआ है। भोजन मे कच्चा प्याज खाना हितकर है।
        उडद  की दाल का आटा  २०० ग्राम लें। इसे प्याज के रस में एक ह्फ़्ता  रखें। बाद में इसे सूखाकर  किसी बर्तन में भरकर रख दें। रोज खाली पेट १५ ग्राम  लेते रहने से  कामेच्छा बढती है और नपुंसकता  दूर होती है।






३) गाजर २०० ग्राम पीसलें।इसमें १५ ग्राम शहद और एक उबला अण्डा भी मिला दें। सहवास शक्तिवर्धक (aphrodisiac) बढिया नुस्खा है।




  


४) भिन्डी की जड का चूर्ण बनालें। यह चूर्ण १० ग्राम बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर दूध में ऊबालकर पीने से नपुंसकता नष्ट होती है।

५) १५ ग्राम सफ़ेद मूसली की जड का पावडर एक गिलास गरम दूध के साथ दिन में दो बार पियें।शीघ्र पतन में लाभकारी है।








६) सहजन पेड की छाल का चूर्ण बनालें। यह चूर्ण ३० ग्राम मात्रा में शहद में मिलाकर चाट लें ।दिन मॆं दो बार लेना चाहिये।

७) मुनक्का ३० ग्राम गरम दूध से नित्य खावें। कब्ज मिटाकर सेक्स पावर बढाता है।








८) अखरोट और शहद बराबर मात्रा में मिलाकर दिन में ३ बार एक माह तक लेने से पुरुषत्व बढता है।


९) अंकुरित अनाज,हरी सब्जियां, फ़ल और सूखे मेवे प्रचुरता से भोजन में ग्रहण करें। नपुंसकता निवारण में इसके महत्व को कम नहीं आंकना चाहिये।





१०) गोखरू और असगन्ध का चूर्ण बराबर मात्रा में शहद में मिलाकर नित्य लेने से इरेक्टाइल डिस्फ़न्क्शन का रोग दूर होकर स्तंभन शक्ति मे वृद्धि होती है।







११)  खारक सेक्स  परफ़ारमेंस उन्नत करने वाला सूखामेवा है। खारक,बादाम पिस्ता  बराबर मात्रा में मिलाकर  पीस कर चूर्ण बनालें। ५० ग्राम की मात्रा में नित्य पाव भर गरम दूध के साथ उपयोग करने से  नपुंसकता दूर होती है ।

१२)  उडद की दाल को  पानी के साथ पीसकर पिट्ठी बनालें।  कढाई में लाल होने तक भुनलें। इसे दूध में डालकर खीर बनालें। जरूरत के मुताबिक मिश्री भी डालें। यह खीर संभोग शक्ति बढाती है और शीघ्र पतन  का भी निवारण करती है। एक महीना प्रयोग करें।

१३)   सफ़ेद प्याज का रस और शहद १०-१० ग्राम लें, इसमें २ अंडे की जर्दी और २५ मिलि शराब मिलाकर रोज शाम को लेते रहने से संभोग शक्ति बढती है।

१४)  सौंठ, सतावर ,गोरखमुंडी थौडी सी हींग और शकर मिलाकर फ़ंकी लेकर  ऊपर से दूध पीने से  लिंग पुष्ट और सख्त होता है। वीर्य की वृद्धि होती है । शीघ्र पतन  में भी हितकारी है।

१५) वियाग्रा में नाईट्रिक ओक्साईड के प्रभाव में ईजाफ़ा करने के तत्व पाये जाते हैं। इससे लिंग की नसों(दोनों चेम्बर्स) में पर्याप्त रक्त भर जाता है और कठोर तनाव पैदा हो जाता है।इसे दिन में एक बार से ज्यादा नहीं लेनी चाहिये। हां , जो हार्ट के मरीज हैं और नाईट्रोग्लिसरीन दवा ले रहे हों वे वियाग्रा इस्तेमाल न करें क्योंकि इससे ब्लड प्रेशर अचानक गिर जाता है और रोगी मुसीबत में आ जाता है। प्रोस्टेट  वृद्धि रोग में टेम्सुलोसिन  अंग्रेजी दवा का उपयोग करने वाले भी वियाग्रा गोली इस्तेमाल न करें।

१६) पुरुषों के गुप्त रोगों में  हर्बल औषधि ज्यादा कारगर और निरापद होती हैं। वैध्य दामोदर  से 09826795656 पर संपर्क  किया जा सकता है।

    १७)     बेहतर सेक्स के लिये आपको ध्यान रखना होगा कि आपका वजन ज्यादा न हो। आपका खाना संतुलित हो और आप रोज कसरत करें। 

1 comment:

  1. यह लेख मूल रूप से डा.दयाराम आलोक का है और यहां कापी पेस्ट कर चोरी से लिया गया है।

    ReplyDelete